fbpx
ATMS College of Education
News

प्राईवेट स्कूलों की मनमानी व व्यापारियों के उत्पीड़न को लेकर व्यापार बंधु की बैठक में ज ताई नाराजगी

हापुड़(अमित अग्रवाल मुन्ना )।
जनपद में व्यापारियों की समस्या को लेकर विकास भवन में उद्योग बंधु और व्यापार बंधु की आयोजित हुई संयुक्त बैठक में व्यापारियों के उत्पीड़न व प्राईवेट स्कूलों की मनमानी को लेकर व्यापारियों ने सीडीओ के सामनें अपनी नाराजगी जताते हुए कार्यवाही की मांग की।

बैठक में व्यापारियों को अलग अलग विभाग में हो रही समस्याओं सेअवगत करवाते हुए हापुड़ उद्योग व्यापार मंडल के अध्यक्ष ने जी एस टी की सचल दल की टीम द्वारा व्यापारी के माल की गाड़ी हापुड़ से पकड़ कर मोहननगर ले जाने और वहाँ व्यापारी का शोषण करने पर भारी नाराजगी प्रकट की।
बैठक में कहा गया कि हापुड़ के व्यापारी के माल का निस्तारण हापुड़ में ही होना चाहिए।
किराना मर्चेंट एसोसिएशन (रजि०) हापुड़ के उप-प्रधान मनीष गर्ग (नीटू) ने खाद्य विभाग द्वारा छोटे छोटे व्यापारी का शोषण करने की बात कही ।जिसमें व्यापारी नेता राजीव गर्ग ने कहा कि सेम्पलिंग के नाम पर छोटे छोटे दुकानदारों को डराया जाता है और उनसे सुविधा शुल्क की मांग की जाती है।
बैठक में उपस्थित व्यापारी नेता संजय अग्रवाल ने कहा कि हापुड़ के स्कूलों द्वारा मनमाने तरीके से ट्यूशन फीस और मेंटिनेंस चार्ज जबरन वसूला जा रहे है।

उधर हापुड़ स्माल स्कैल इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के सचिव अमन गुप्ता व आईआईए के सचिव शान्तनु सिंघल ने कहा कि जीएसटी के नाम पर व्यापारियों का उत्पीड़न किया जा रहा है। अधिकारी व्यापारियों की शिकायतों का निस्तारण नहीं कर रहे है। मोदीनगर रोड पर 33 के.वी. की लाइन को हटवाने व ततारपुर बाईपास पर लाईन ऊंचा करनें ,अपना घर कालोनीं में सड़क बनवानें सहित अन्य मांगों के समाधान ना होनें पर नाराजगी व्यक्त की गई।
सीडीओ उदय सिंह ने मामलें में संबंधित अधिकारियों को समाधान करनें के निर्देश दिए है।
बैठक में संजय गर्ग (लकड़ी वाले), विजेंद्र गर्ग (लोहे वाले), सोनू बंसल, सुमित कंसल , विजय अग्रवाल, पुरुषोत्तम अग्रवाल चौबे जी , संजय सिंघल, अशोक छारिया आदि मौजूद थे।

Menmoms Sajal Telecom JMS Group of Institutions
Show More

3 Comments

  1. Pingback: 토렌트 다운
  2. Pingback: faceless niches
  3. Pingback: โคมไฟ

Leave a Reply

Back to top button

You cannot copy content of this page