fbpx
BreakingCrime NewsHapurNewsUttar Pradesh

प्रेमी से बोला था झूठ.. पति को दिया धोखा, सहेली को जिंदा जलाकर क़त्ल करने वाली मेरठ की युवती को हुई उम्रकैद की सजा

प्रेमी से बोला था झूठ.. पति को दिया धोखा, सहेली को जिंदा जलाकर क़त्ल करने वाली मेरठ की युवती को हुई उम्रकैद की सजा

मेरठ 

मेरठ में शादीशुदा अफसाना ने अपने प्रेमी प्रवीण को पाने के लिए ऐसी खौफनाक साजिश रची, जिसे जानकर हर कोई दंग रह गया।चूंकि, अफसाना और प्रवीण अलग-अलग धर्मों से थे इसलिए अफसाना ने खुद को मरा साबित कर प्रवीण संग जिंदगी गुजारने का प्लान बनाया, इसके लिए उसने 2019 मे अपनी सहेली जीनत को घर बुलाया और नशीला पदार्थ देकर उसे बेहोश कर दिया.फिर गैस सिलेंडर में आग लगाकर जीनत को जिंदा जला दिया था ।आग लगते ही अफसाना घर से फरार हो गई और प्रेमी के पास जाकर रहने लगी. इधर, लोगों को घर के अंदर से जली हुई डेड बॉडी मिली. जिसे पहचान पाना मुश्किल था. परिजनों ने यही समझा कि घर में जलकर अफसाना की मौत हो चुकी थी।अफसाना अपने इस प्लान में लगभग कामयाब हो गई थी मगर प्रेमी के शादी से इनकार ने उसकी पोल खोल दी. आखिर में अफसाना अपने ही बुने जाल में फंस गई. अब चार साल बाद जीनत को इंसाफ मिला है, जीनत की हत्या के जुर्म में अफसाना को आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई है।

क्या था मामला…

मेरठ के लिसाड़ीगेट थाना क्षेत्र में रशीदनगर है। यहां किराये के मकान में रहने वाले अबरार अपनी बीवी अफसाना के साथ रहता था। उसके घर में दो अप्रैल 2019 को संदिग्ध हालत में आग लग गई। आग बुझाई गई तो घर के अंदर से एक महिला की जली हुई लाश मिली। तब हर एक शख्स ने मान लिया कि अबरार की बीवी अफसाना अग्निकांड में जल गई है। घरवालों ने भी बुरी तरह से झुलसी लाश की पहचान अफसाना के तौर पर की। किसी को कानोकान खबर नहीं हुई कि मरने वाली अफसाना नहीं, बल्कि दूसरी महिला जीनत है। रशीदनगर में रहने वाली जीनत से अफसाना की दोस्ती थी। उसने लंबी साजिश के तहत घर बुलाकर जीनत की जान ली थी। अफसाना ने जीनत को नशीला पदार्थ खिलाकर बेहोश किया था, फिर मिनी सिलिंडर से घर में आग लगा दी थी। मगर यह राज सिर्फ 22 दिन तक ही राज बना रहा। पुलिस ने इस केस में एक सतर्कता बरती थी कि शव का डीएनए सैंपल सुरक्षित रख लिया गया था। इस वारदात के बाद अफसाना प्रेमी प्रवीण के घर गोकुलपुरी में रहने लगी। प्रवीण मेरठ में ही टैंपो चलाता था। दोनों के बीच काफी दिनों से नाजायज ताल्लुकात थे। अब अफसाना अपने प्रेमी प्रवीण के साथ घर बसाना चाहती थी। उसने प्रवीण को अपना नाम निशा और धर्म हिंदू बताया था। यह गलती उसे बाद में भारी पड़ गई।

प्रेमी ने किया शादी से मना तब पहुंची महिला थाना…

उधर, जीनत की अचानक गुमशुदगी से उसके घरवाले परेशान थे। जीनत के मायकेवालों को शक था कि उसके पति अशरफ ने गड़बड़ी की है। उन्होंने अशरफ के खिलाफ थाना लिसाड़ी गेट में अशरफ और उसके परिवार वालों के खिलाफ दहेज उत्पीड़न का केस दर्ज करा दिया। पुलिस भी दहेज का मामला समझकर जीनत की तलाश करती रही। प्रेमी प्रवीण को निशा उर्फ अफसाना ने बताया कि वह प्रेग्नेंट है, इसलिए अब शादी कर लेनी चाहिए। प्रवीण को पता चला कि निशा का असली नाम अफसाना है और वह मुस्लिम है। इस केस ने 24 अप्रैल 2019 को उस समय अचानक बड़ी करवट ली, जब प्रवीण ने शादी से इनकार कर दिया। गुस्से में अफसाना मेरठ के महिला थाने में प्रवीण के खिलाफ प्रेम में धोखा और बहला-फुसलाकर शारीरिक संबंध बनाने का आरोप लगाते हुए शिकायत की। अपनी शिकायत में भी उसने अपना नाम निशा ही बताया। थाने में पुलिस को शक हुआ। पुलिस ने निशा के चेहरे का मिलान अफसाना की तस्वीर से किया तो शक गहरा गया। चार दिन तक वह पुलिस को भी बरगलाती रही। पुलिस ने अफसाना की मां को थाने में बुलाकर पहचान कराई तो सच सामने आ गया।

 

Show More

Leave a Reply

Back to top button

You cannot copy content of this page