fbpx
AstrologyHapurHealthNewsUttar Pradesh

स्वाद और सेहत का भंडार है मूंग, इन तरीकों से करें अपनी डाइट में शामिल

स्वाद और सेहत का भंडार है मूंग, इन तरीकों से करें अपनी डाइट में शामिल

लाइफस्टाइल 

मूंग हमारे खान-पान का एक अहम हिस्सा है। मूंग को अंकुरित करके या इसकी दाल बनाकर हम अक्सर ही खाते हैं। इसे खाना हमारी सेहत के लिए बहुत लाभदायक होता है। यह पाचन क्रिया बेहतर बनाने, दिल को सेहतमंद रखने, वजन कम करने में मदद करने के साथ-साथ, आयरन और प्रोटीन जैसे पोषक तत्वों से भी भरपूर होता है। लेकिन रोज-रोज मूंग को एक ही तरीके से खाना काफी बोरिंग हो सकता है। इसलिए हम आपको बताने वाले हैं मूंग की बनी कुछ ऐसी डिशेज, जिन्हें बनाना बेहद आसान होता है और जायका ऐसा, कि आप उंगलियां चाटते रह जाएंगे। आइए जानते हैं, मूंग की कौन-कौन सी आसान रेसेपी बना सकते हैं।

मूंग दाल वड़ा

मूंग दाल का वड़ा बनाने के लिए मूंग और चना दाल को रात भर पानी में भिगोकर रख दें। इसके बाद इसे पीस कर गाढ़ा बैटर तैयार कर लें। फिर इसमें प्याज, मिर्च, अदरक-लहसुन का पेस्ट, हींग और स्वादानुसार नमक मिलाएं। इसके बाद एक कढ़ाई में तेल गरम कर लें और छोटे-छोटे आकार में वड़े के बैटर को उसमें डालें और सुनहरा भूरा और कुरकुरा होने तक तलें। इसके बाद इसे छानकर निकाल लें और टीशू पेपर से इसका तेल सुखा कर गर्मा-गर्म साम्भर या चटनी के साख खाएं।

मूंग दाल हल्वा

मूंग दाल का हल्वा खाने में काफी टेस्टी होता है। इसे बनाने के लिए मूंग को रात भर पानी में भिगोकर रख दें। इसके बाद इसे पीस कर इसका गाढ़ा पेस्ट बना लें। एक कढ़ाई में घी गर्म करें और उसमें इस पेस्ट को थोड़ी देर के लिए पकाएं। इसे तब तक पकाएं, जब तक मूंग दाल का पेस्ट घी को अच्छे से सोख न ले। इसके बाद इसमें चीनी मिलाएं और ढक कर 15 मिनट के लिए पकने दें। इसके बाद इसमें ड्राई फ्रूट्स डालें और कुछ मिनट और पकाएं। मूंग दाल का हल्वा तैयार है, इसे गर्मा-गर्म परोसे और खाएं।

मूंग दाल अप्पे

मूंग दाल अप्पे बनाने के लिए मूंग की दाल को 5-6 घंटे भिगोकर छोड़ दें और उसका पेस्ट बना लें। इसके बाद, इसमें प्याज, टमाटर , गाजर और शिमला मिर्च मिला लें। इसके बाद अप्पे के सांचे में तेल लगाकर यह बैटर मिलाएं और दोनों तरफ से सुनहरा भूरा होने तक पकाएं। मूंग दाल के अप्पे तैयार हैं। इसे साम्भर या चटनी के साथ परोसें।

Show More

Leave a Reply

Back to top button

You cannot copy content of this page