fbpx
BreakingCrime NewsHapurNewsUttar Pradesh

आरटीआई के तहत निजी स्कूलों में गरीब बच्चों का एडमिशन कराएं बेसिक शिक्षा अधिकारी -डीएम प्रेरणा शर्मा

आरटीई के तहत निजी स्कूलों में गरीब बच्चों का एडमिशन कराएं बेसिक शिक्षा अधिकारी -डीएम प्रेरणा शर्मा
हापुड़

हापुड़। डीएम प्रेरणा शर्मा ने बेसिक शिक्षा विभाग के तहत गठित जिला शिक्षा एवं अनुश्रवण समिति, मध्यान भोजन योजना तथा निपुण भारत मिशन की जनपद स्तरीय टास्क फोर्स के साथ समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में की।

उन्होंने विद्यालय परिसर से हाईटेंशन तारों के हटाने, अध्यापक एवं छात्रों की उपस्थिति, निपुणशाला कार्यक्रम, अधिकारियों द्वारा स्कूल निरीक्षण, आरटीई के तहत निजी स्कूलों में एडमिशन, कन्या सुमंगला योजना, समेकित शिक्षा, मध्यान भोजन योजना, किचन गार्डन तथा कस्तूरबा गांधी विद्यालय में अवस्थाना सुविधा तथा अन्य विषयों पर समीक्षा की।
जिलाधिकारी ने कहा कि जनपद में शिक्षा के अधिकार के तहत निजी स्कूलों में गरीब बच्चों का एडमिशन किया जाना है इसलिय वित्तीय वर्ष 2024-25 में शत प्रतिशत एडमिशन के लिए खंड शिक्षा अधिकारी सभी निजी स्कूलों में छात्रों की वास्तविक संख्या की सही रिपोर्ट तैयार करके 30 दिसंबर तक उपलब्ध कर दे। यदि खंड शिक्षा अधिकारी द्वारा प्रस्तुत रिपोर्ट त्रुटिपूर्ण या भ्रामक उपलब्ध कराई जाएगी तो खंड शिक्षा अधिकारी तथा संबंधित स्कूलों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि जिन स्कूलों में कायाकल्प योजना के तहत निर्माण कार्य किया जाना है उसका एस्टीमेट बनाकर बीएसए यथाशीघ्र प्रस्तुत कर दें जिससे नगर पालिका की आगामी बैठक में इस प्रस्ताव को रखा जा सके तथा धनराशि आवंटित की जा सके। साथ ही जिन विद्यालयों में निर्माण कार्य होना है अथवा किया जा रहा है वहां यह सुनिश्चित किया जाए कि निर्माण कार्य की गुणवत्ता में किसी भी प्रकार की खामियां ना रह जाए तथा कोई भी विद्यालय शौचालय तथा पेयजल सुविधा विहीन नहीं होना चाहिए। जर्जर स्कूली भवनो की समीक्षा के दौरान कहा कि खंड शिक्षा अधिकारी जर्जर भवनों का ध्वस्तीकरन यथाशीघ्र कराया जाना सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी ने कहा कि पीएम पोषण योजना के तहत संचालित मध्यान भोजन योजना में लगे रसोइयों तथा अन्य कर्मचारियों का भुगतान हर हालत में समय कर दिया जाए इसमें किसी भी प्रकार की देरी न हो। उन्होंने कहा कि स्कूलों के निरीक्षण में लगे सभी अधिकारी नियमित रूप से स्कूलों का निरीक्षण करें यदि स्कूल के निरीक्षण में शिथिलता पाई जाती है तो कारण बताओं नोटिस के साथ-साथ संबंधित अधिकारी के सर्विस बुक में भी एंट्री की जाएगी इसके अलावा कस्तूरबा गांधी विद्यालय में टॉयलेट, जल निकासी तथा अन्य सुविधा बेहतर होनी चाहिए इसमें किसी प्रकार की लापरवाही अक्षम्य होगी साथ ही विद्यालयों के रिक्त पदों को भी यथाशीघ्र भरा जाना सुनिश्चित किया जाए।
बैठक के दौरान जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, खंड शिक्षा अधिकारी, जिला उद्यान अधिकारी तथा अन्य संबंधित अधिकारी गण उपस्थित रहे।

Show More

Leave a Reply

Back to top button

You cannot copy content of this page